Intraday Trading क्या है जानिए हम इंट्राडे ट्रेडिंग से कैसे पैसा बना सकते है?

INTRADAY TRADING: नमस्कार दोस्तों, आज के टाइम में हर कोई ट्रेडिंग करना चाहता है क्यों की लोगों को लगता है की ट्रेडिंग कर के काफी कम समय के अंदर ज्यादा पैसा बनाया जा सकता है और यह बात 100% प्रतिशत सच्च है अगर आपके पास सही जानकारी या आपने काफी सारा रिसर्च किया है ट्रेडिंग करने के बारे में तब आप पैसा ही पैसा बना सकते है।

अगर हम पिछले दो सालों का ट्रेडिंग चार्ट देखे तो उस से हमें यह पता चलता है की बीते दो सालों में काफी तेजी से निवेशक मार्किट में एंट्री ले रहे है अगर आप भी ट्रेडिंग करना चाहते है यह पहले से ट्रेडिंग कर रहे है तो आप ने इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में जरुर सुने होंगे। क्यों की इंट्राडे ट्रेडिंग एक ऐसा ट्रेडिंग ऑप्शन है जिसके जरिये हम काफी पैसा कम सकता है।

आज हम इंट्राडे ट्रेडिंग से जुड़ी हर जानकारी के बारे में जानेंगे। जैसे की: Intraday Trading क्या है, इंट्राडे ट्रेडिंग का मतलब क्या है, इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता हैं, इंट्राडे ट्रेडिंग से हम पैसे कैसे बना सकते है, इंट्राडे ट्रेडिंग में आर्डर कैसे लगते है और साथ ही साथ जानेंगे की इंट्राडे ट्रेडिंग से होने वाले फायदे और नुकसान क्या-क्या है?

तो चलिए जान लेते है की आखिर कर Intraday Trading क्या है?

Intraday Trading Ki Puri Jankari Hindi Me
Intraday Trading Ki Puri Jankari Hindi Me (Theme Design By: 24Hindi.In)

इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है – What’s Intraday Trading In Hindi

इंट्राडे ट्रेडिंग को समझना काफी आसान है जैसे की आपको इसके नाम से ही पता चल रहा होगा की हम इस ट्रेडिंग को एक दिन के अंदर ही पूरा करना होता है इसका मलतब यह है की अगर आप इंट्राडे में किसी भी तरह के शेयर को खरीदते है तो उन शेयर को उसी दिन ही बेचना होता है और हम इसे ही इंट्राडे ट्रेडिंग बोलते है।

इंट्राडे ट्रेडिंग की शुरुवात सुबह 09:15 बजे से लेकर शाम के 03:30 बजे तक ही चलता है चलिए हम इंट्राडे ट्रेडिंग को और भी आसान शब्दो में समझे गए जिससे आप सभी को अच्छे से समझ में आ सके इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में।

मान लीजिये की आज सुबह मैंने ICICI Bank के 200 शेयर इंट्राडे ट्रेडिंग में खरीदा है और मुझे पूरा बिस्वास है की आज ICICI Bank के शेयर ऊपर की ओर जाएंगे और मैंने अपना प्रॉफिट बुक करके उसी दिन मार्किट बंद होने से पहले मैंने 200 शेयर को बेच दिया और जिसे हम इंट्राडे ट्रेडिंग बोलते है।

मन लेते है की मैं आपने इंट्राडे शेयर को बेचना भूल गया तब ऐसे में मेरा स्टॉक ब्रोकर मेरे अकाउंट से ऑटोमेटिक स्क्वायर ऑफ कर देगा जिसका मतलब यह है की मेरे 200 शेयर ऑटोमेटिक बिक जाएंगे अगर नहीं बिकता है तो वह सारे शेयर आपने आप ही इंट्राडे से डिलीवरी में बदल जाएंगे।

अगर आप चाहते है की कम टाइम के अंदर ज्यादा पैसे बने तो आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर सकते है मगर आपको यह पता जरुर होना चाहिए की जहाँ पर कम समय के अंदर ज्यादा प्रॉफिट है वह उतना ही नुकसान है अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग करना ही चाहते है तो सोच और समझ के और अच्छी जानकारी के साथ इंट्राडे ट्रेडिंग की शुरुवात कर सकते है।

इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता है – How Intraday Trading Works

जैसे की आप सभी को पता चल चुका है की इंट्राडे ट्रेडिंग रेगुलर ट्रेडिंग से काफी अलग है अगर हम इंट्राडे में ट्रेडिंग करते है तो हमें उन सारे शेयर को उसी दिन ही खरीद के बेचना भी होता है आपको इंट्राडे में ट्रेडिंग करने के लिए इंट्राडे या MIS ऑप्शन को चुना होता है।

अगर आप के पास ज्यादा पैसे नहीं है इंट्राडे में ट्रेडिंग के लिए तब ऐसे में कुछ स्मार्ट और डिस्काउंट ब्रोकर आपको एक अच्छा-खासा मार्जिन भी उपलब्ध करा देते है इसका मतलब यह है की आप के स्टॉक ब्रोकर आपको ज्यादा मार्जिन या लिवरेज उपलब्ध करवाया देता है जिसके हेल्प्स से आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर सकते है। चलिए हम इसको और आसान शब्दों में समझते है।

मन लेते है की मैंने ICICI Bank के 200 शेयर ₹180 रुपये के भाव से खरीदा है और मेरे खरीदे शेयर के प्राइस ₹180 रूपये से बढ़कर ₹190 रुपये हो जाते है तब मैं आपने सारे शेयर को बेच दुगा जिसके चलते मुझे ₹360 रुपये का फायदा हो जाएगा।

ऐसे में अगर मैं आपने शेयर बेचना भूल जाता हु तो मेरे स्टॉक ब्रोकर उन सारे शेयर को अपनी ओर से बेच सकता है इसमें यह होगा की मार्किट में जो भी प्राइस चल रहा होगा उसके हिसाब से आपको फायदा और नुकसान हो सकता है अगर मेरे स्टॉक ब्रोकर उन शेयर को नहीं बेचता है तो उन सारे शेयर को वह मेरे डीमैट अकाउंट में डिलीवरी में बाद कर क्रेडिट कर देगा।

इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमा सकते है – Earn Money From Intraday Trading

अगर आप अभी मार्केट में नए निवेशक है आपको इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में पूरी जानकरी होना बहुत ही जरुरी है मगर हम आपको इस आर्टिकल में हर वह स्टेप बताएंगे जिसकी जरुरत इंट्राडे ट्रेडिंग में होती है तो चलिए शुरु करते है।

  • एक डीमैट या ट्रेडिंग अकाउंट आपने कीजिये।
  • ट्रेडिंग सीखिए प्रॉपर तरिके से।
  • शुरुवात में आप ट्रायल बेसिस पर ट्रेडिंग करना सीखे।

एक डीमैट या ट्रेडिंग अकाउंट आपने कीजिये: अगर आपको इंट्राडे ट्रेडिंग करना है तो आपके पास एक डीमैट अकाउंट होना ही चाहिए अगर नहीं है तो आपको Upstox या Zerodha में अपना एक डीमैट अकाउंट बना सकते है।

ट्रेडिंग सीखिए प्रॉपर तरिके से: अगर आप बिना जानकारी के किसी भी तरह के ट्रेडिंग करते है तो आपको नुकसान होने के शिवा कभी प्रॉफिट नहीं हो सकता है इसके लिए आपको इंट्राडे ट्रेडिंग करने से पहले उसके बारे में सीखना बहुत ही जरुरी है। आप को इंट्राडे ट्रेडिंग सिखने के लिए काफी समय देना होगा, क्यों की इंट्राडे ट्रेडिंग एक दिन का खेल नहीं है।

आपको ट्रेडिंग चार्ट, टेक्निकल एनालिसिस, शेयर कब खरीदे और कब बेचना है या आप को शेयर को खरीद रहे है उनके बारे में पूरी जानकारी होने चाहिए तभी आप एक अच्छे ट्रेडर बन सकते है।

शुरुवात में आप ट्रायल बेसिस पर ट्रेडिंग करना सीखे: जब आप एक नये ट्रेडर होते है तब आपको धीरे-धीरे ट्रेडिंग के बारे में सब कुछ पता चलता रहता है ऐसे में आप अपनी ट्रेडिंग को और अच्छा कर सकते है इसे आपकी ट्रेड करने की पावर बढ़ा जाती है। काफी सारे वेबसाइट मार्किट में अवेलेबल है जिनके जरिये आप ट्रेडिंग करना सिख सकते है।

हम आपको कुछ ऐसे टिप्स के बारे में बताने वाले है जिनका इस्तेमाल करके आप इंट्राडे ट्रेडिंग में एक अच्छा प्रॉफिट बना सकते है।

  • पहला: आपने गोल्स के अनुसार ट्रेडिंग करें केवल
  • दूसरा: प्रॉपर तरिके से रिसर्च करें
  • तीसरा: मार्केट के हर न्यूज़ और अपडेट पर नजर रखे
  • चौथा: स्टॉप लॉस कर भी सकते है तो नहीं भी
  • पांचवा: समय का खास ध्यान रखे

Margin In Intraday Trading

इंट्राडे ट्रेडिंग में मार्जिन क्या होता है – Margin In Intraday Trading

इंट्राडे ट्रेडिंग में मार्जिन(Margin) शब्द काफी आम बात है क्यों की मार्जिन का इस्तेमाल हर इंट्राडे ट्रेडर करता ही है अगर आप इंट्राडे में ट्रेड करना चाहते है और आपके पास उतने पैसे नहीं है जितना आपको चाहिए। तब ऐसे में आपको आपने स्टॉक ब्रोकर से मार्जिन लेकर ट्रेडिंग कर सकते है। इसको थोड़ा और आसान शब्दों में समझते है।

जैसे की मेरे ट्रेडिंग अकाउंट में ₹25,000 हजार रूपये है और आपके इंट्राडे में ट्रेड करना चाहते है आपके एक शेयर की प्राइस ₹100 रूपये है तो आप उन शेयर को 100 रूपये में ही खरीद सकते है।

मन लेते है की मेरे स्टॉक ब्रोकर मुझे 10X तक का मार्जिन उपलब्ध करवा देता है तब में ₹25,000 X 10 = ₹2,50,000 का ट्रेड बहुत ही आसानी से कर सकता हु और इसी तरह में 250 शेयर की जगह पर 2500 शेयर में ट्रेड कर सकूगा। इसी तरह से हम मार्जिन से अच्छा खासा प्रॉफिट बुक कर सकते है।

लिमिट आर्डर क्या होता है – What’s Limit Order

अगर आप किसी भी तरह के शेयर को एक फिक्स्ड प्राइस में खरीदना चाहते है तब आपको Limit Order सेट कर के उन शेयर को खरीद या बेच सकते है। इसे भी हम आसान शब्दों में समझेंगे।

मन लेते है की मुझे HDFC Bank के शेयर लेना है ₹500 रूपये के भाव से मगर उसका रियल टाइम प्राइस ₹560 रूपये है ऐसे में हम लिमिट आर्डर ऑप्शन का इस्तेमाल कर सकते है हम आर्डर सेट करेंगे ₹500 पर जब उस शेयर का प्राइस 500 पर जायेगा तब मेरे सेट किया गया आर्डर लिमिट आटोमेटिक उस शेयर को खरीद लेगा और इसी तरह से हम Sell Limit लगा कर उन शेयर को बेच भी सकते है।

मार्केट ऑर्डर क्या होता है – What’s A Market Order

जैसे आपने अभी लिमिट आर्डर के बारे में समझा है उस से थोड़ा सा अलग है मार्केट ऑर्डर। अगर आप किसी भी तरह के शेयर को परन्तु खरीदना चाहते है तो हम उसे मार्केट ऑर्डर बोलते है यह रियल टाइम प्राइस के शेयर को आपके अकाउंट में एक्सीक्यूट कर देता है।

स्टॉप लॉस क्या होता है – What’s Stop Loss

हमने शुरू में ही समझ लिए था की इंट्राडे ट्रेडिंग काफी रिस्की होती है इसमें जितने तेजी से आपको प्रॉफिट होता है उतने ही तेजी से आपका नुकसान भी हो सकता है इसके लिए हम स्टॉप लॉस ऑप्शन का इस्तेमाल करते है अगर आप स्टॉप लॉस का इस्तेमाल नहीं करते है तब आपका लगाया हुआ सारा पैसा लॉस हो सकता है स्टॉप लॉस का इस्तेमाल कर के हम आपने शेयर का एक प्राइस फिक्स कर देते है अगर उसे निचे शेयर की प्राइस जाती है तो आटोमेटिक मेरे शेयर सेल्ल हो जायेगा।

मन लेते है की मैंने Tata Company के कुछ शेयर खरीदे है ₹100 रुपये के भाव से। मैंने इस शेयर के बारे में काफी रिसर्च किया है मुझे लगता है की मेरे शेयर आज 5% ऊपर की ओर जाएंगे मगर ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है यह 5% ऊपर की ओर न जाकर 3% नीचे की ओर आ जाता है।

इस तरह के नुकसान से बचने के लिए में स्टॉप लॉस वाले ऑप्शन का इस्तेमाल करुगा जैसे मैंने आपने शेयर का प्राइस ₹90 रुपये पर स्टॉप लॉस लगा कर रख दिया है ऐसे में जैसे मेरे शेयर की प्राइस गिरकर ₹90 रुपये पर आएगा वैसे मेरे सारे शेयर आटोमेटिक सेल्ल हो जायेगे।

कवर ऑर्डर क्या होता है – What’s Cover Order

कवर ऑर्डर का इस्तेमाल हम इंट्राडे ट्रेडिंग के दौरान ही आपने ट्रेड को सेट कर सकते है इसमें आप जब शेयर खरीदते है तभी आप स्टॉप लॉस को सेट कर सकते है।

जैसे की मुझे HDFC Bank के शेयर में निवेश करना है और उनका रियल टाइम प्राइस ₹410 रुपये चल रहा है तब मैं उस प्राइस को ₹405 रुपये पर सेट करुगा और में इसका स्टॉप लॉस ₹400 रूपये पर सेट कर दुगा इसके चलते मेरे दोनों काम हो जाएंगे और इसका इस्तेमाल हम केवल कवर ऑर्डर में ही कर सकते है।

ब्रैकेट ऑर्डर क्या होता है – What’s Bracket Order

ब्रैकेट ऑर्डर का इस्तेमाल कर के हम एक साथ शेयर को खरीद सकते है और साथ ही साथ प्रॉफिट बुकिंग और स्टॉप लॉस को भी सेट कर सकते है यह एक एडवांस तरीका है ट्रेडिंग करने का। अब हम आपको और अभी आसान तरिके से समझते है।

मन लीजिये मैंने ICICI Bank के शेयर ₹350 के भाव से खरीदा है अब मैं चाहता हु की मेरे शेयर जैसे ₹5 रुपये का प्रॉफिट बुक करें वैसे बिक जाना चाहिए मेरे शेयर। और दूसरा की मैं यह भी चाहता हु की मेरे शेयर जैसे ₹345 रुपये को टच करें वैसे मेरे सारे शेयर सेल्ल हो जाने चाहिए यह एक स्टॉप लॉस आर्डर होगा।

ब्रैकेट ऑर्डर से आप कई काम कर सकते है। और यह ऑप्शन आप सभी के लिए बेहतर साबित हो सकता है।

इंट्राडे ट्रेडिंग के फायदे – Advantages Of Intraday Trading
  • इंट्राडे ट्रेडिंग के अंदर आप काफी कम समय के अंदर ज्यादा पैसे बना सकते है।
  • जब मार्किट में गिरावट आता है तब भी हम इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे बना सकते है।
  • इंट्राडे ट्रेडिंग में आपको मार्जिन और लिवरेज भी मिल जाता है।
  • अगर आप अच्छे से इंट्राडे ट्रेडिंग सिख लेते है तो इसे आप फ्यूचर में काफी अच्छा पैसा बना सकते है।
  • ऐसा नहीं है की सिर्फ इंट्राडे ट्रेडिंग में ही रिस्क है हर तरह के ट्रेडिंग में रिस्क है अगर आप बिना रिसर्च के ट्रेडिंग करते है।
  • अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग करते है तब आप पैसे को समय से पहले ही निकल सकते है इसमें हर ट्रेडर को हाई लिक्विडिटी भी दिया जाता है।
इंट्राडे ट्रेडिंग के नुकसान – Disadvantages Of Intraday Trading
  • अगर आप ज्यादा प्रॉफिट के चक्कर में है तो आपका नुकसान होने का खतरा उतनी ही तेजी से बन जाती है।
  • इंट्राडे ट्रेडिंग का मार्किट काफी भी स्थित नहीं रहता।
  • इंट्राडे ट्रेडिंग में प्रॉफ़िटन बुक करने के बाद मार्किट से बहार निकल जाना चाहिए।
  • इंट्राडे में इमोशन का कोई रोल नहीं है अगर आप आपने इमोशन के साथ ट्रेड करते है तो 100% प्रतिशत आपका ही नुकसान होगा।

इसे भी पढ़े: सेबी क्या है जानिए किस तरह से सेबी काम करता है।
इसे भी पढ़े: आईपीओ क्या है हम ऐसे आईपीओ से पैसा बना सकते है।

आज आपने क्या सीखा: आज आपने इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में सारी जानकारी प्राप्त की है। जैसे की: Intraday Trading क्या है, इंट्राडे ट्रेडिंग का मतलब क्या है, इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे काम करता हैं, इंट्राडे ट्रेडिंग से हम पैसे कैसे बना सकते है, इंट्राडे ट्रेडिंग में आर्डर कैसे लगते है और साथ ही साथ हमने जाना की इंट्राडे ट्रेडिंग से होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में। अगर ऐसे ही शेयर मार्किट से रिलेटेड न्यूज़ चाहिए तो हमे फॉलो करते रहे।

अगर मेरे द्वारा दी गयी जानकारी आप सभी को अच्छी लगी हो तो, इस आर्टिकल को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें, जिससे की हमारे बीच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा। मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नई जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ।

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने रीडर्स या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी डाउट है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं। मैं जरुर उन डाउट का हल निकलने की पूरी कोशिश करूँगा।

Rahul Roy
Rahul Royhttps://24hindi.in
Hello friends, My Name Is Rahul Roy And I'm Currently Studying Computer Science, And I Live In Delhi. I'm The Owner Of This Blog, If Anyone Has Any Work With Me, Then You Can Contact With Me.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisement

spot_img

Latest Articles